हिन्दी के साहित्यकारों के साहित्यिक उपनाम

साहित्यकारों के मूल नाम से भिन्न वह नाम जिससे साहित्यकार, साहित्य जगत को अपना परिचय देता है। उपनाम का प्रयोग रचना के ‘छाप’ (पहचान) के लिए भी किया जाता है। कवि, कहानीकार, साहित्यकार, उपन्यासकार आदि कोई भी अपना ‘उपमान’ रख सकता है।

‘छद्मनाम’ और ‘उपनाम’

‘छद्मनाम’ और ‘उपनाम’ में अंतर होता है। ‘छद्मनाम’ में लेखक अपने नाम को पुर्णतः गुप्त रखने के लिए किसी अन्य कल्पित नाम को रचयिता के रूप में प्रस्तुत करता है। इसके कई कारण हो सकते है। कथाकार धनपतराय ने छद्मनाम ‘प्रेमचंद’ अपनाया था, किन्तु भाग्यवश वे इसी नाम से विश्वप्रसिद्ध हो गए। बाद में यह उपनाम हो गया।    

अपभ्रंश के रचनाकार
मूल नाम उपनाम
स्वयंभूअपभ्रंश का वाल्मीकि, कालिदास  तथा व्यास
पुष्पदंतहिंदी का भवभूति, भाखा की जड़, अभिमान मेरु, काव्यरत्नाकर, कविकुल तिलक
वाल्मीकिआदिकवि
हेमचन्द्रप्राकृत का पाणिनी, कलिकाल सर्वज्ञ
अब्दुल हसनअमीर खुसरो, हिन्दुस्तान की तूती
रीतिकाल के कवि
मतिरामपुराने पंथ का पथिक
घनानंदसाक्षात रसमूर्ति, प्रेम के पीर के कवि
केशवदासकठिन काव्य का प्रेत
पद्माकरकविराज शिरोमणि
कवि बिहारीहिन्दी का ग़ालिब
मध्वाचार्यआनंदतीर्थ
भक्तिकाल के कवि
मूल नामउपनाम
सूरदासवात्सल्य रस सम्राट, अष्टछाप का जहाज, भावाधिपति, खंजन नयन
तुलसीदासमानस का हंस, लोक नायक, हिन्दी का जातीय कवि
नंददासगढ़िया और जड़िया कवि
कुंभनदासपूरे ऋषि
मलिक मोहम्मद जायसीजायसी
अब्दुल रहीम खानेखानारहीम
सैयद इब्राहिमरसखान
मीराबाई 
आदिकाल के कवि
विद्यापतिकविशेखर, सरस कवि, कवि शेखर, दसावधान, कविकंठहार, पंचानन, अभिनव जयदेव, मैथिल कोकिल
धनपालसरस्वती
कुंभनदासपूरे ऋषि
मुंशी सदासुखलालनियाज
सैयद गुलाम नबीरसलीन
लाला भगवान् ‘दीन’दीन
भारतेंदु युग के कवि
भारतेंदु हरिश्चंद्रहिन्दी नवजागरण का अग्रदूत, भारतेन्दु, रसा, युग का वैतालिक
बद्रीनारायण चौधरी ‘प्रेमघन’प्रेमघन, अब्र
प्रतापनारायण मिश्रहिन्दी का लैम्ब
बालमुकुंद गुप्तशिवशंभू
शिवप्रसाद सिंहसितारे हिन्द
बाबु श्यामसुंदर दासशब्द सम्राट कोश 
आचार्य रामचंद्र शुक्लसाहित्य का महारथी
आचार्य शिवपूजन सहायबिहार का महावीरप्रसाद द्विवेदी
बाबु जगन्नाथ दासहिन्दी का टेनिसन
आधुनिक युग के कवि
आ० महावीर प्रसाद द्विवेदीसुकवि किंकर, अवतारी पुरुष, भुजंगभूषण भट्टाचार्य, कल्लू अल्हइत, नियम नारायण शर्मा
हजारी प्रसाद द्विवेदीबीसवीं सदी का बाणभट्ट, वैद्यनाथ दिवेदी, व्योमकेश
जगन्नाथदास ‘रत्नाकर’रत्नाकर’ और ‘जकी’ उपनाम से उर्दू में लिखते थे।
गया प्रसाद शुक्ल ‘स्नेही’स्नेही, त्रिशूल, तरंगी, अलमस्त
मैथिलीशरण गुप्तरसिकेंद्र, राष्ट्रकवि, दद्दा
अयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔंध’हरिऔंध, कवि सम्राट
नाथूराम शर्माशंकर, कविता-कामिनी कांत, भारतेंदु-प्रज्ञेन्दु, साहित्य सुधाकर शंकर
राजेन्द्रबाला घोषबंग महिला

छायावाद के कवि
जयशंकर प्रसादबचपन का नाम: झारखंडी, कलाधर आधुनिक कविता के सुमेरु, छायावाद का जनक, छायावाद का ब्रह्मा, भारतीय संस्कृति पूर्णउद्धारक कवि
सुमित्रानंदन पंतप्रकृति के सुकुमार कवि, सुधाकर प्रिय, अप्सरा लोक का कवि, स्वरसिद्ध, गोसाई दत्त
सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’‘निराला,’ ‘महाप्राण’, साहित्यशार्दुल
महादेवी वर्माआधुनिक युग की मीरा
मोहनलाल महतो ‘वियोगी’वियोगी
राष्ट्रीय सांस्कृतिक धारा के कवि
माखनलाल चतुर्वेदीएक भारतीय आत्मा
बालकृष्ण शर्मा ‘नवीन’नवीन
रामधारी सिंह- दिनकरअधैर्य के कवि, समय-सूर्य, अनल कवि
जगन्नाथ प्रसाद ‘मिलिन्द’मिलिन्द
रामेश्वर शुक्ल ‘अंचल’अंचल
गीत विधा के कवि
हरिवंश राय ‘बच्चन’प्रबंध शिरोमणी, आत्मानुभूति का कवि, प्रेम और रोमांस का कवि,  क्षयी रोमांस का कवि- ‘दिनकर’ ने कहा था।
शिवमंगल सिंह ‘सुमन’सुमन
प्रगतिवादी कवि
मूलनाम: वैद्यनाथ मिश्रयात्री, नागार्जुन, बाबा, ढक्कन, आधुनिक कबीर
प्रयोगवाद और नयी कविता के कवि
सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन ‘अज्ञेय’अज्ञेय, कुट्टिचातन, कठिन गद्य का प्रेत, हिन्दी का इलियट
दुष्यंत कुमारहिन्दी गजलों के राजकुमार 
रामविलास शर्माअगिया बैताल, निरंजन
हरिहर प्रसाद द्विवेदीवियोगी हरि, गद्यकाव्य का लेखक
सियारामशरण गुप्तहिन्दी साहित्य का बापू, हिन्दी का गोल्ड स्मिथ 
रायदेवी प्रसाद ‘पूर्ण’पूर्ण
जगदीशचंद्र माथुरहिन्दी का लघु प्रसाद
भवानी प्रसादकविता का गांधी
गिरिधर शर्मानवरत्न
उपेन्द्रनाथ ‘अश्क’अश्क
सत्यनारायणकविरत्न, ब्रज कोकिल, श्रीश
चंद्रधर शर्मा ‘गुलेरी’गुलेरी
जगन्नाथ प्रसादभानु
प्रेमचंदकथा सम्राट, उपन्यास सम्राट, कलम का मजदूर, भारत का मैक्सिम गोर्की, भारत का चुलूच, कलम का सिपाही  
गोपालदास ‘नीरज’नीरज
मोहनलाल महतो ‘वियोगी’वियोगी
जनार्दन प्रसाद झा ‘द्विज’द्विज
मिर्जा नासिर हसनआधुनिक रहीम
अब्दुल रसीदआधुनिक रसखान    
शिवरतन शुक्लबलई
कांतानाथ पांडेयचोंच
जगदंबा प्रसाद मिश्रहितैसी
पांडेय बेचन शर्माउग्र, अष्टावक्र  
गद्दाधर भट्टऊँची योग्यता का कवि  
पंडित रामदिन मिश्रहिन्दी का मम्मट
फणीश्वर नाथ ‘रेणु’रेणु धरती का धन
बाबू गोपालचन्द्रगिरिधरदास
विश्वंभरनाथ शर्माकौशिक विजयानन्द दूबे
सुदामा पांडे ‘धूमिल’धूमिल
अभिमन्यु अनतशबनम
वासुदेव सिंहत्रिलोचन, किवदंती पुरुष, अवध का किसान कवि
गजानन माधव ‘मुक्तिबोध’मुक्तिबोध, भयानक खबरों का कवि
शमशेर बहादुर सिंहकवियों के कवि, मूड्स के कवि, बात के कवि, कुलदीप सिंह
भवानी प्रसाद मिश्रबालमोहन, सहजता की कवि, कविता का गांधी
त्रयम्बक वीर राघवाचार्यरांगेय राघव
कैलास सक्सेनाकमलेश्वर
विद्यानिवास मिश्रभ्रमरानंद, परंपरा जीवी
नारायण प्रसादबेताब
चंडी प्रसादह्रदयेश
शिवप्रसाद मिश्ररुद्र ,काशिकेय
गुलशेर खांशानी
प्रभुलाल गर्गकाका हाथरसी
मनोहर श्याम जोशीकल के वैज्ञानिक

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.